आइए हिंदी सीखने के लिए मजेदार तरीके देखें। | Some Fun Tricks to Understand Hindi

By नित्या नरसिम्हन

रुकावट के लिए खेद है। आपकी अंग्रेजी के पटरी पर यह हिंदी भाषा की रेल को चढाने के लिए माफ़ कीजियेगा, परन्तु मेरे मुँह दिखाई के लिए वोरोनी(Woroni) से अच्छा माध्यम कहाँ मिलेगा मुझे ANU में।

मैने सुना है कि ANU में भी कई छात्र हिंदी सीखते हैं और कई ऐसे छात्र भी हो सकते हैं जिन्हे अपनी हिंदी सुधारनी हो। तो मैंने सोचा क्यूं ना हिंदी सीखनेके लिए थोड़े आसान नुस्के बताए जाए ताकि बच्चों को हिंदी सीखने में आसानी हो और मज़ा भी आए।

पहले तो हिंदी में कोई भी मोन अक्षर (साइलेंट लेटर्स) नहीं है। हिंदी को जैसे लिखते हैं वैसे ही पढ़ते हैं और जैसे बोलते हैं वैसे ही लिखते हैं। हिंदी एकबोहुत ध्वन्यात्मक (फिनेटिक्स) भाषा है। तो जब आप हिंदी पढ़ें तोह शब्दों को ज़ोर ज़ोर से बोलकर पढ़ें और जैसे लिखा है वैसे ही पढ़ें। अक्सर लोगों कोउ’ औरऊ’, औरइ’ औरई’, में दुविधा होती है तोह आप ध्यान दीजिए की आप शब्द बोलते समय उस अक्षर को कैसे बोलते हैं। अगर आपनेउ’ परज़ोर दिया तो वोह बड़ीऊ’ होगी जैसे ऊपर जहां आपऊ’ पर ज़ोर देते हैं जबकि उल्लू में आपउ’ पर ज्यादा ज़ोर नही देते।इ’ औरई’ का भी ऐसे हीपढ़ सकते हैं जैसे इमारत और ईदगाह। हिंदी में काफी लोगों को कि और की में भी दुविधा होती है। कि यानी अंग्रेजी में डेट (that) और की यानी किसीकी चीज जैसे नित्य की किताब (possession- Nitya’s book)

अगर आपको हिंदी सीखना है तो बॉलीवुड चलचित्र (फिल्म) देखना एक बोहुत मजेदार तरीका है। आप हिंदी फिल्म देख के हिंदी समझने की कोशिशकर सकते हैं। अगर आपको हिंदी पढ़ना आता हो तो आप उस मूवी को हिंदी अनुशीर्षक (सबटाइटल्स) के साथ देख सकते हैं। जो लोग हिंदी से ज्यादावाकिफ नहीं हैं वो हिंदी में डब किया हुआ अंग्रेजी चलचित्र (या आपका राष्ट्रिक भाषा का चलचित्र) देख सकते हैं जो आपने पहले देखा हो ताकि आपउस चलचित्र के कहानी को पहले से ही जान सके और आपको वे अभिनताओं की बोली समझ आए। या आप अंग्रेजी अनुशीर्षक के साथ हिंदी में फिल्मदेख सकते हैं। हिंदी गाने भी आप सुन सकते हैं क्योंकि धुन इंसान को ज्यादा जल्दी याद होती है।

किसी भी भाषा को बेहतर जानने के लिए आपको उस भाषा में अक्सर वार्तालाप करना चाहिए। आपके साथी जो हिंदी सीख रहे हैं आप उनके साथ याANU में जो बच्चों को हिंदी आती है आप उनसे हिंदी में बात कर सकते हैं। गूगल (Google) के अलावा (ध्यान रखिएगा कि गूगल ट्रांसलेट हमेशा सही नही होता है), ऐसे कईं ऐप (app) हैं जैसे डुओलिंगो (Duolingo) जिन्हें इस्तेमाल करके आप अपनी हिंदी सुधार सकते हैं। यूट्यूब (YouTube) परआप छोटे बच्चों के लिए हिंदी में बनाई गईं वीडियो देखकर भी सीख सकते हैं।

मेरे हिंदी सीखने के नुस्के तो समाप्त हुए परंतु आप यहां थामिएगा नहीं। हिंदी बोलते रहिए और हिंदी सीखते रहिए। हिंदी में बात करें, किताब पढ़ें, गानेसुने और फिल्म देखते रहें। एक अनजान भाषा को सीखने पर इंसान को नए दोस्तों के साथ एक नया आत्मविश्वास और कुछ नया जानने की खुशी भीमिलती है। आप सब से अब मैं अलविदा लेती हूं। उम्मीद है हम फिर जल्द ही मिलेंगे। खुश रहिए और सीखते रहिए।

***

Sorry for the interruption. I’m about to barge in with my Hindi language train onto your English language train, asI thought there was no better place at ANU than Woroni to show up. 

I have heard that some students are learning Hindi at ANU, and that there are also people who simply want to improve their Hindi speaking and writing skills. So I’ve decided to write about a few fun and easy tricks to learn Hindi to make your language learning journey easier.

First of all, Hindi does not have any silent letters. The way you write Hindi is the way you speak the language, and the way you pronounce a word is exactly the way you write it. Hindi is a very phonetic language, so it’s easier if you say the words out loud while reading in Hindi. People often get confused between a few alphabets in Hindi, namely the ‘उ’ and ऊ’, and इ’ andई’. When using these similar alphabets, always pay attention to how you are pronouncing each alphabet. When pronouncing उ’ (oo), if you stress on the word as in the case of the Hindi word for ‘up’ (‘ऊपर’), you are using the larger form (ऊ’). If you don’t stress on the alphabet, you use the smaller form (उ’), as in the case with the Hindi word for ‘owl’, (‘उल्लू’). The same goes for the letter इ’ – for example when pronouncing the Hindi words ‘इमारत’andईदगाह’ (where the bigger form ई’ is used), meaning a building and the festival Eid respectively. In Hindi, a lot of people are also confused when using the Hindi term for that and when saying someone’s, as both are pronounced as Ki in Hindi. When it comes to writing, ‘कि’ means ‘that’ while ‘की’ is used to say Nitya ki Kitab (Nitya’s book) – an act of possession (someone’s book).

An entertaining way of learning Hindi is to watch Bollywood movies. If you know how to read Hindi, then you can watch the movie with Hindi Subtitles. Otherwise, simply watch the movie and try to understand the dialogue. If you are new to Hindi, you can watch movies traditionally made in the English Language (or the language you are most comfortable using), that you have already seen, but this time subtitled  in Hindi. This is helpful because you are already aware of the context in which the actors are conversing, so it’s easier for you to understand what they’re saying. You can also listen to songs in Hindi, as some people find it easier to memorize or remember words if they are in the form of a song. 

In order to master any language, it’s important to keep practising it. Keep talking in Hindi to your peers  or with other people at ANU who are familiar with the language. Apart from Google (Google translate is not always accurate), there are other apps which can help you learn Hindi, such as  Duolingo. You can also watch videos in Hindi that are made for kids on YouTube to familiarise yourself with the basics of the language.

These are  the only tricks up my sleeve to learn Hindi but you definitely shouldn’t stop here. Keep conversing in Hindi, read Hindi books, watch Hindi movies and listen to Hindi songs. Learning a new language does not only make it easier to make new friends but it builds your self-confidence and it’s a good feeling to know a language previously foreign to you. That’s all from me, I hope you keep learning and I hope to see you soon!

 

 

Think your name would look good in print? Woroni is always open for submissions. Email write@woroni.com.au with a pitch or draft. You can find more info on submitting here.